Skip to main content

गौमाता पर प्रश्नावली : गोपाल प्रसाद

                आप सभी गौभक्तों के अवलोकनार्थ एवं विशेषकर विद्यार्थियों एवं युवाओं में भारतीय संस्कृति में गाय के महत्त्व को समझने,समझाने एवं शोध हेतु महत्वपूर्ण. राष्ट्रीय पुनर्जागरण हेतु राष्ट्रीय एवं प्रादेशिक स्तर के सभी विद्यालयों (विशेष रूप से सीबीएसई बोर्ड अंतर्गत सभी विद्यालय, केन्द्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा संचालित विद्यालय यथा - DAV, विद्या मंदिर आदि में प्रतियोगिता आयोजित करवाने एवं इस प्रश्नोत्तरी से संबंधित विषयों को सभी विद्यालय के पाठ्यक्रमों में अनिवार्य रूप से लागू करने हेतु भारत के प्रधानमंत्री, संस्कृति मंत्री तथा मानव संसाधन मंत्री से अनुशंसा की अपील ! साईंस ओलंपियाड एवं मैथ ओलंपियाड की तरह भारतीय संस्कृति ओलंपियाड में संस्कृति के विभिन्न आयामों में सर्वप्रथम गाय के माध्यम से ही हम और हमारी भावी पीढी जड़ों से जुड़ सकती है ! इस अभियान हेतु आप सभी सुधीजनों के संपर्क,समन्वय,संवाद और सहयोग तथा मार्गदर्शन अपेक्षित है ! “
(अपीलकर्ता : गोपाल प्रसाद आरटीआई एक्टिविस्ट, दिल्ली/वाराणसी/अमेठी )
संपर्क : वाट्सएप- 9910341785, मोबाईल : 8505946059, 8178949704.
                           गौमाता प्रश्नावली
1.      गाय को गोमाता क्यों कहते हैं?
2.      गोसेवा क्या है?
3.      गोसेवा कैसे करनी चाहिए?
4.      गोसेवा का तात्पर्य क्या है?
5.      गौरक्षा क्यों करना आवश्यक है?
6.      गौरक्षा कैसे करें?
7.      हिन्दू धर्म / सनातन धर्म में गाय का क्या महत्त्व है?
8.      गौरक्षा के प्रति उपेक्षा कौन करता है?
9.      गौमाता की जय एवं गौमाता की रक्षा हो, का उद्घोष क्यों करते हैं?
10.  गौवंश को कसाईयों के हाथ क्यों बेचते हैं?
11.  गौवंश हमारे लिए कैसे उपयोगी है?
12.  गाय के गोबर का महत्त्व एवं उपयोगिता क्या है?
13.  गोमूत्र के महत्त्व एवं उपयोगिता क्या है?
14.  गाय के गोबर एवं गोमूत्र पर वैज्ञानिक तथ्य क्या है?
15.  बैल पर ज्यादा बोझ डालने के बाबजूद उसे पीटना क्या उचित है?
16.  गौवंश पर क्रूरता करना क्या उचित है?
17.  गौवंश पर क्रूरता करने पर संविधान में दण्ड के क्या प्रावधान हैं?
18.  गौवध के विरुद्ध संविधान में दण्ड के क्या प्रावधान है?
19.  गौशाला में क्या –क्या और कैसी व्यवस्था होनी चाहिए?
20.  गौशाला और डेयरी में क्या अंतर है?
21.  श्रेष्ठ गौशाला की क्या –क्या चुनौतियाँ हैं?
22.  गौचर भूमि किसे कहते हैं? गौचर भूमि पर क्या होता है?
23.  आपके इलाके में गौचर भूमि कहाँ और कितना है?
24.  गौचर भूमि की जानकारी कहाँ से प्राप्त हो सकती है?
25.  क्या आपके इलाके में गौचर भूमि पर अतिक्रमण है?
26.  गौचर भूमि पर अतिक्रमण करनेवाले कौन –कौन लोग हैं?
27.  सर्वोच्च न्यायलय ने ग्राम सभा की भूमि में से 5% जमीन गौचर भूमि के रूप में सुरक्षित करने का आदेश कब दिया था एवं वह किस सन्दर्भ  में था?
28.  हमारे धर्मशास्त्र में गौपूजन, गौदान,गौसेवा, गौरक्षा के महत्त्व एवं लाभ क्या है?
29.  हमारे धर्मशास्त्र में गौपूजन,गौदान,गौसेवागौरक्षा से संबंधित श्लोक एवं उसका अर्थ बताएं.
30.  सनातन धर्म के अनुसार गौपाष्टमी एवं गोवर्धन पूजा की शुरुआत कैसे हुई?
31.  क्या प्राचीन अथवा वैदिक काल में गोहत्या होती थी?
32.  प्राचीन अथवा वैदिक काल में गोहत्या के कारन दण्ड के क्या प्रावधान थे?
33.  क्या प्राचीन अथवा वैदिक काल में गौ मांस भक्षण होता था?
34.  गौ मांस भक्षण एवं गौहत्या पर झूठा प्रचार करनेवाले कौन हैं और वे ऐसा क्यों करते हैं?
35.  स्लाटर हाउस क्या है? वहां क्या होता है?
36.  क्या आपके इलाके में स्लाटर हाउस है? क्या वह वैध है?
37.  देश के विभिन्न राज्यों में कितने वैध एवं अवैध स्लाटर हाउस संचालित हैं?
38.  भारत सरकार के किस पूर्व मंत्री का स्लाटर हाउस है और वह कहाँ है?
39.  गौहत्या पर प्रतिबन्ध के सम्बन्ध में सर्वोच्च न्यायालय में याचिका किसने और कब कब लगाई ? उनमें से कितने लंबित हैं?
40.  गौहत्या पर प्रतिबन्ध के सम्बन्ध में सर्वोच्च न्यायालय का किस किस केस में क्या –क्या निर्णय आया है?
41.  देशी और जरसी गाय में क्या अंतर है?
42.  देशी गाय का नस्ल सुधार कैसे और कहाँ -कहाँ किया जाता है?
43.  गाय की आयु अवधि सामान्यतः क्या है?
44.  गाय कितने वर्ष तक दूध देती है?
45.  गाय जब दूध नहीं देती हो तो उसकी उपयोगिता क्या है?
46.  अगर कोई किसान ट्रैक्टर खरीदता है तो बैल बेकार हो जाता है, फिर बैल का क्या किया जाता है?
47.  गाय को ठंढ़ में ठंढ़ और गर्मी में गर्मी क्यों नहीं लगती है? क्या उसमें टेम्प्रेचर कंट्रोल करने की क्षमता होती है?
48.  भैंस पानी में देखी होगी पर गाय को पानी में देखा है क्या?
49.   क्या आपको गौसेवा और गौरक्षा से संबंधित संस्थाओं के नाम , पता एवं पदाधिकारियों के नाम की जानकारी है?
50.  केंद्र सरकार एवं आपके प्रदेश सरकार तथा स्थानीय निकाय के कौन – कौन से विभाग गाय से संबंधित हो सकते हैं?
51.  आपने गाय से संबंधित कौन कौन से लेख, आलेख, रिपोर्ट, समाचार आपने पढ़े हैं और कहाँ पढ़े हैं?
52.  गाय से संबंधित समाचारपत्र एवं पत्रिकाओं की के नाम, संपादक एवं प्रकाशक के नाम क्या है?
53.   क्या गाय से संबंधित कोई वीडियो आपने देखा है? आपने उसमें क्या देखा?
54.  क्या आपने किसी गोमाता का मंदिर देखा है? वह मंदिर कहाँ है?
55.  क्या आपने किसी दुकान पर गौमाता की मूर्ति या मूर्तिरूपी गुल्लक / दान-पात्र देखा है? क्या आपने उसमें कोई दान दिया था?
56.  क्या आपके इलाके में गौग्रास की गाड़ी, ठेला या अन्य वाहन आता है? क्या आपने उसमें गौग्रास दान किया है?
57.  क्या सेना में भी गौपालन होता है?
58.  क्या जेल में भी गौपालन होता है? उस जेल का नाम बताएँ.
59.  पंचगव्य क्या है? पंचगव्य की उपयोगिता क्या है?
60.  पंचगव्य उत्पाद से रोजगार की क्या संभावना है?
61.  गौ आधारित कृषि व्यवस्था क्या है और कैसे संभव है?
62.  जीरो बजट खेती में गाय या गौवंश की क्या उपयोगिता है?
63.  क्या गौवध से ही प्राकृतिक आपदाएं आती है? इसका वैज्ञानिक आधार क्या है?
64.  गौवधबंदी, गौरक्षा से संबंधित राष्ट्रीय स्तर पर एवं विभिन्न राज्यों में क्या-क्या नियम हैं?
65.  राष्ट्रीय स्तर पर गौवधबंदीगौरक्षा क़ानून की उपयोगिता एवं महत्त्व क्या है?
66.  गौवंश के कितने नस्ल हैं और उनकी क्या विशेषता है?
67.  देशी भारतीय गाय की क्या पहचान है?
68.  हमारे देशी नस्ल की गाय विदेश (विशेषकर ब्राजील) में गई है, फिर हमें विदेशी नस्ल की जरूरत क्यों पड़ी ? ठीक उसी प्रकार हमें विदेशी नस्ल की दोगली गाय के आयात पर पूर्ण प्रतिबन्ध क्यों नहीं लगा देना चाहिए?
69.  फरीदाबाद के किस व्यक्ति ने गाय के चित्र के माध्यम से गाय का धार्मिक, आध्यात्मिक महत्त्व के साथ-साथ गाय के दूध, गोबर एवं गौमूत्र के महत्त्व के  विवरण का बेहतरीन चित्रण किया है?
70.  खालसा पंथ के अनुसार गाय के किसी प्रसंग की आपको जानकारी है?
71.  A-1 दूध क्या है? A-1 दूध से क्या नुक्सान होता है?
72.  A-2 दूध क्या है? A-2 दूध से क्या लाभ होता है?
73.  क्या A-2 दूध से कैंसर का भी ही इलाज होता है?
74.  बच्चों के लिए A-2 दूध ही क्यों उपयोगी है?
75.  एक जीवित गाय के गोबर एवं गोमूत्र का अनुमानित मूल्य क्या है?
76.  एक गोवंश के मांस का अनुमानित मूल्य क्या है?
77.  गौवंश के वध एवं मांस पैकिंग तक की अवधि में पानी का खर्च, बिजली का खर्च, श्रम की लागत क्या है? अवशेष के निस्तारण एवं भूजल व पर्यावरण पर क्या प्रभाव पड़ता है?
78.  गौवंश को होनेवाली बीमारियाँ एवं उनके लक्षण क्या है? उसके इलाज हेतु क्या करना चाहिए?
79.  गौवंश को दिए जानेवाले संतुलित आहार में क्या- क्या और कितनी मात्रा में होना चाहिए?
80.  स्वस्थ गौवंश की क्या पहचान है?
81.  विभिन्न राज्यों के प्रमुख गौशालाओं,उनकी विशेषता एवं उनके संचालकों के नाम,
पते एवं संपर्क नबर की आपको जानकारी है?
82.  गाय की सेवा करने से सेवा करनेवाले व्यक्ति पर क्या प्रभाव पड़ता है?
83.  अनाथ गौवश की क्या समस्या है और उसका समाधान क्या है?
84.  कूड़ा-कचरा खानेवाली गाय के दूध पर उसके खाने का क्या कोई प्रभाव पड़ता है?
85.  कई गौवंश के ऑपरेशन के उपरान्त प्लास्टिक, सूई, कील, शीशा आदि क्यों पाया जाता है?
86.  मर्यादा पुरुषोत्तम राम के राज्य में गौवंश, गौपालन, गौरक्षा की व्यवस्था आदि के बारे में ऐतिहासिक प्रमाण क्या है?
87.  किन-किन राजाओं के शासनकाल में गौवध,गौवंश पर क्रूरता करने पर कठोर दण्ड का प्रावधान था?
88.  किन –किन मुस्लिम राजाओं के शासन काल में गौवध निषेध था?
89.  कुरान एवं हदीस में गौवध, गौरक्षा एवं गौमांस से संबंधित क्या कोई जिक्र है?
90.  क्या आप कुछ मुस्लिम गौसेवकों एवं गौरक्षकों को जानते हैं?
91.  क्या आप कुछ गौकथावाचकों को जानते हैं? क्या आपने गौकथा कहीं पर सुनी है?
92.  क्या आप कुछ मुस्लिम गौकथावाचकों को जानते हैं?
93.  गाय पर भारत सरकार की क्या–क्या योजनाएं चल रही है?
94.  गाय पर आपके प्रदेश सरकार की क्याक्या योजनाएं चल रही है?
95.  गाय के लिए एम्बुलेंस की सुविधा कहाँ –कहाँ उपलब्ध है और उसका संपर्क नंबर क्या है?
96.  क्या आपके इलाके में गौवंशों की तस्करी भी होती है? इस पर अंकुश के लिए क्या आपने कोई पहल किया है? गौतस्करी की घटना पर क्या FIR दर्ज हुआ तथा इसमें कितने लोग पकड़े गए?
97.   आपके इलाके में गाय के मृत्यु हो जाने पर उसके मृत शरीत का संस्कार कैसे और कहाँ पर किया जाता है?
98.  गाय के सामाजिक, राजनैतिक, अर्थशास्त्रीय,सांस्कृतिक, आध्यात्मिक धार्मिक एवं वैज्ञानिक महत्त्व के बारे में आप क्या जानते हैं?
99.  क्या किसी विधानसभा अथवा लोकसभा चुनाव में गाय से संबंधित कोई विषय किसी राजनैतिक दल का चुनावी मुद्दा रहा है ?
100.  भारत के किन –किन धर्माचार्यों एवं महापुरुषों या सरकारी संस्थाओं ने गाय पर टिप्पणी की है या विचार प्रकट किया है?
101.  विदेश के  किन किन धर्माचार्यों एवं महापुरुषों या संस्थाओं ने गाय पर टिप्पणी की है या विचार प्रकट किया है?

@कॉपीराइट : गोपाल प्रसाद 


Comments

Popular posts from this blog

वर्तमान में शिक्षा का उद्देश्य

शिक्षा का प्रथम उद्देश्य बच्चों को एक परिपक्व इन्सान बनाना होता है, ताकि वो कल्पनाशील, वैचारिक रूप से स्वतन्त्र और देश का भावी कर्णधार बन सकें, किन्तु भारतीय शिक्षा पद्धति अपने इस उद्देश्य में पूर्ण सफलता नहीं प्राप्त कर सकी है, कारण बहुत सारे हैं । सबसे पहला तो यही कि अंगूठाछाप लोग डिसा‌इड करते हैं कि बच्चों को क्या पढ़ना चाहिये, जो कुछ शिक्षाविद्‍ हैं वो अपने दायरे और विचारधारा‌ओं से बंधे हैं, और उनसे निकलने या कुछ नया सोचने से डरते हैं, ऊपर से राजनीतिज्ञों का अपना एजेन्डा होता है, कुल मिलाकर शिक्षा पद्धति की ऐसी तैसी करने के लिये सभी लोग चारों तरफ से आक्रमण कर रहे हैं, और ऊपर से तुर्रा ये कि ये सभी लोग समझते हैं कि सिर्फ वे ही शिक्षा का सही मार्गदर्शन कर रहे हैं, जबकि दर‌असल ये ही लोग उसकी मां बहन कर रहे हैं । मैं किसी एक पर दोषारोपण नहीं करना चाहता, शिक्षा पद्धति की रूपरेखा बनाने वालों को खुद अपने अन्दर झांकना चाहिये और सोचना चाहिये, कि क्या उसमें मूलभूत परिवर्तन की जरूरत है। आज हम रट्टामार छात्र को पैदा कर रहे हैं, लेकिन वैचारिक रूप से स्वतन्त्र और परिपक्व छात्र नहीं, क्या यही हमा…

राजनीति में भ्रष्टाचार

भ्रष्टाचार और राजनीति का एक गहरा संबंध है । जहां हम विकास की एक नई गाथा को रचने का सपना संजोए हुए हैं वहीं दुनिया के सामने हमारी गरीबी की सच्चाई को स्लमडॉग मिलेनियर जैसी फिल्मों के सहारे परोसा जा रहा है । आज हम भ्रष्टाचार के मामले में बंग्लादेश, श्रीलंका से भी आगे हैं ।
झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री सह सांसद मधुकोड़ा का मामला भ्रष्टाचार के मामले में सामने आया है । जिसमें ४ हजार करोड़ के घपले का पता चला है । कोड़ा का नाम भी उन राजनेताओं में जुड़ गया है जो भ्रष्टाचार के मामले में दोषी पाये गए हैं या घिरे हुए हैं । भ्रष्टाचार को फैलाने वाले राक्षस सत्ता में आसीन राजनीति के शीर्ष नेता हैं इसकी शुरूआत भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के समय से ही हो गई थी । १९५६ में खाद्यान्‍न मंत्रालय में करोड़ों रूपये की गड़बड़ी पकड़ी गई । जिसे सिराजुद्दीन काँड के नाम से जाना जाता है । उस समय केशवदेव मालवीय खाद्यान्‍न मंत्री थे उन्हें दोषी पाया गया । १९५८ में भारतीय जीवन बीमा में मुंधरा काँड हुआ जिसकी फिरोज गाँधी ने पोल खोली थी । १९६४ में भ्रष्टाचार को रोकने के लिए “संथानम कमिटी” का गठन किया गया ।…

एक आरटीआई एक्टिविस्ट के संघर्ष की कहानी, उसी की जुबानी

पिताजी गुरु भी थे। गरीबी, प्राइवेट ट्यूशन वगैरह करके आजीविका चलाते; परिवार चलाने के साथ-साथ सारे समाज, देश की चिंता उनका प्रमुख स्वभाव रहा। हमेशा दूसरों से कुछ अलग करने की चाह; सीमित संसाधनों में भी देश, समाज और मित्रों के लिए समय निकालना; शायद उनका यही स्वभाव मेरे मस्तिष्क में रच-बस गया, कार्यशैली का हिस्सा बन गया। छात्र जीवन बहुत फाकाकशी, गरीबी का रहा, लेकिन मेरे पिताजी ने अपने सिद्धांतों के साथ कभी समझौता नहीं किया। हमारे मकान का धरन (कड़ी) लकड़ी का था, जो टूट गया था। उसी पर पूरे छत का लोड था। मकान कब गिर जाय, कुछ ठिकाना नहीं।प्लास्टिक के टेंट लगाकर रहते थे। कभी घर में चूल्हा भी नहीं जलता था। ऐसी ही परिस्थितियों में एक बार गुल्लक तोड़ा, तो पाँच रुपए निकले। उन्हीं से दो किलो चूड़ा लाया था। उसी को भिंगोकर, नमक-मिर्च लगाकर सपरिवार ग्रहण किया। अपनी शादी बिना तिलक-दहेज के की। दो बहनों की शादी आज से बीस साल पहले दिल्ली में मात्र सत्रह हजार की मामूली रकम में ही की। दोनों बहनों की शादी एक ही तिथि में किया। हमारे समाज (अखिल भारतीय खटिक समाज) के जो राष्ट्रीय पदाधिकारी थे, उन्होंने अपना मकान पंद्…