Skip to main content

Posts

मुस्लिम तुष्टिकरण एवं हिन्दुओं के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार के विरुद्ध न्याय की मांग

सेवा में,
1. श्री नरेंद्र मोदी जी
    प्रधानमंत्री भारत सरकार
    साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली

2. श्री अमित शाह जी
     गृह मंत्री भारत सरकार
     नॉर्थ ब्लॉक, नई दिल्ली

3. श्री मोहन भागवत जी
     सरसंघचालक,
     राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ,
     रेशमबाग, नागपुर (महाराष्ट्र)

विषय : मुस्लिम तुष्टिकरण एवं हिंदुओं के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार के विरुद्ध न्याय की मांग

महोदय,
मैं आपका ध्यान उपरोक्त संदर्भ में आकृष्ट कराना चाहता हूं, जो निम्नलिखित है:-
* दिल्ली सरकार द्वारा मुस्लिमों के पर्व यथा रमजान, ईद, बकरीद के मौके पर सरकारी खर्च पर इफ्तार पार्टी एवम बड़े - बड़े विज्ञापन के माध्यम से मुस्लिम तुष्टीकरण को बढ़ावा।
2. मुस्लिम बाहुल्य इलाके में कानून तोड़ने की घटना एवं संदिग्ध आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तता, लव जेहाद हिंदू उत्पीड़न में वृद्धि तथा चिंताजनक स्थिति के मद्देनजर सख्त मॉनिटरिंग की आवश्यकता।
3.  भारत में इस्लामी कट्टरवाद के खिलाफ श्रीलंका एवम चीन की सरकार  के निर्णय की भांति कार्यवाही की मांग।

4. दिल्ली में जामा मस्जिद के इमाम बुखारी पर लाखों के बकाए बिजली बिल की वसूली नहीं होने, कई गंभ…
Recent posts
*इंडिया इंटेलेक्चुअल फाउंडेशन की ओर से  दिल्ली विश्वविदयालय के रामजस कॉलेज में "राष्ट्रीय शिक्षा नीति" पर व्यापक विमर्श संपन्न*
*(नई दिल्ली, 4 जुलाई,2019)*
*दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में इंडिया इंटेलेक्चुअल फाउंडेशन की ओर से दिनांक 4 जुलाई 2019 को  "राष्ट्रीय शिक्षा नीति" विषय पर बुद्धिजीवियों ने अपने विचारों का आदान प्रदान किया।*        *इस कार्यक्रम में संस्था की पिछली गतिविधियों यथा *"परीक्षा सुधार"* *की अनुशंसा जिसे तत्कालीन कुलपति ने स्वीकार किया था, के बारे में भी बताया गया।सर्वविदित है कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी का ड्राफ्ट जनता के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय के वेबसाईट पर सार्वजनिक करते हुए 30 जून 2019 तक सुझाव मांगा गया था जिसे अब बढ़ाकर 31जुलाई कर दिया गया है।*  *कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए इंडिया इंटेलेक्चुअल फाउंडेशन के सचिव डॉ. धनीराम जी ने कहा कि किसी भी पॉलिसी को लागू करने के लिए निर्धारित ऑब्जेक्ट होना चाहिए, ऑब्जेक्ट को प्राप्त करने के लिए मैथड होना चाहिए।सबसे महत्वपूर्ण बात जो  इस शिक्षा नीति में नजर नहीं आती कि शिक्षा का उद्द…

दिल्ली में अतिक्रमण: समस्या एवम समाधान

*दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में " दिल्ली में अतिक्रमण: समस्या एवम समाधान" विषय पर परिचर्चा*

*दिल्ली (2 जुलाई,2019)*

*दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज स्थित कांफ्रेंस हॉल में "दिल्ली में अतिक्रमण: समस्या एवम समाधान" विषय पर आयोजित परिचर्चा में दिल्ली के सभी नगर निगम क्षेत्र के RWA प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया , जिसमें उन्होंने दिल्ली की ज्यादातर समस्याओं का मूल कारण अतिक्रमण माना एवम अपनी चिंता जाहिर की। इसके समाधान हेतु वक्ताओं ने अपने अपने विचार प्रकट किए। कार्यक्रम के संयोजक एवं रामजस कॉलेज में बिजनेस लॉ एंड कॉरपोरेट गवर्नेंस के सहायक प्रोफेसर डॉ. धनीराम ने कहा कि पूरा रोहिणी क्षेत्र अवैध अतिक्रमण की चपेट में है। अतिक्रमणकर्ता कानून की उपेक्षा कर रहे हैं और उन्हें दंड या सजा की परवाह नहीं है क्योंकि ऐसे लोग एमसीडी, डीडीए , दिल्ली पुलिस के अधिकारियों की मिलीभगत से अपना अवैध कार्य बखूबी चला रहे हैं।*
*"सेव आवर सिटी"* *आंदोलन के संस्थापक राजीव काकड़िया ने दिल्ली क्षेत्र के RWA को जोड़कर अतिक्रमण के खिलाफ हल्लाबोल  आंदोलन की शुरुआत करने का संकल्…

एक आरटीआई एक्टिविस्ट के संघर्ष की कहानी, उसी की जुबानी

पिताजी गुरु भी थे। गरीबी, प्राइवेट ट्यूशन वगैरह करके आजीविका चलाते; परिवार चलाने के साथ-साथ सारे समाज, देश की चिंता उनका प्रमुख स्वभाव रहा। हमेशा दूसरों से कुछ अलग करने की चाह; सीमित संसाधनों में भी देश, समाज और मित्रों के लिए समय निकालना; शायद उनका यही स्वभाव मेरे मस्तिष्क में रच-बस गया, कार्यशैली का हिस्सा बन गया। छात्र जीवन बहुत फाकाकशी, गरीबी का रहा, लेकिन मेरे पिताजी ने अपने सिद्धांतों के साथ कभी समझौता नहीं किया। हमारे मकान का धरन (कड़ी) लकड़ी का था, जो टूट गया था। उसी पर पूरे छत का लोड था। मकान कब गिर जाय, कुछ ठिकाना नहीं।प्लास्टिक के टेंट लगाकर रहते थे। कभी घर में चूल्हा भी नहीं जलता था। ऐसी ही परिस्थितियों में एक बार गुल्लक तोड़ा, तो पाँच रुपए निकले। उन्हीं से दो किलो चूड़ा लाया था। उसी को भिंगोकर, नमक-मिर्च लगाकर सपरिवार ग्रहण किया। अपनी शादी बिना तिलक-दहेज के की। दो बहनों की शादी आज से बीस साल पहले दिल्ली में मात्र सत्रह हजार की मामूली रकम में ही की। दोनों बहनों की शादी एक ही तिथि में किया। हमारे समाज (अखिल भारतीय खटिक समाज) के जो राष्ट्रीय पदाधिकारी थे, उन्होंने अपना मकान पंद्…

राहुल गांधी ने अमेठी की जनता को छलने का ही काम किया : गोपाल प्रसाद

अमेठी के सांसद राहुल गांधी के जाति, धर्म ,उनकी कंपनी के साथ-साथ सांसद आदर्श ग्राम योजना की उपलब्धि, उनके सांसद निधि का ब्यौरा, नेशनल हेराल्ड केस का विवरण,उनके द्वारा बनाए गए सेल्फ हेल्प ग्रुप का विवरण, सेल्फ हेल्प ग्रुप को राजीव गांधी फाउंडेशन द्वारा दिया गया वित्तीय मदद, राजीव गांधी फाउंडेशन को दान देने वाली संस्थाएं (राजीव गांधी फाउंडेशन के डोनर) राजीव गांधी फाउंडेशन को अब तक प्राप्त हुए डोनेशन के बारे मेंजानना चाहती है। इस संबंध मेँ पारदर्शिता क्यों नहीं है?क्या जनता के कर का पैसा भ्रष्टाचार करने वाले अधिकारियों, उससे नेटवर्क से जुड़े लोगों, राजीव गांधी फाउंडेशन के पास जाती रहेगी और देश की जनता मूकदर्शक होकर देखती रहेगी?आजादी की लड़ाई लड़ने का दावा करनेवाली कांग्रेस पार्टी एवं उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मैं मांग करता हूँ कि सबसे पहले राजीवगांधी फाउंडेशन जितने ऑडिट रिपोर्ट हुए हैं, उसेसार्वजनिक किए जाने चाहिए। राहुल गांधी की माताश्री और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी जी की तमाम विदेशी यात्रा सार्वजनिक क्यों नहीं की जाती? विदेश यात्राका खर्च,विदेश मेँ जहां-जहां गई ए…